डिल्डो क्या होता है और इसका उपयोग कहाँ होता है

डिल्डो क्या होता है और इसका उपयोग किस लिए किया जाता है ?

आप ने यूँ ही इन्टरनेट पर कई बार इस शब्द यानि डिल्डो तो जरुर सुना होगा या फिर किसी मित्र ने आपस में बातें करते समय कभी इस शब्द का नाम लिया होगा | अगर आप नही जानते है की डिल्डो क्या है तो आप आश्चर्यचकित हो गए होंगे की भाई ये कौन सा शब्द है जो मुझे नहीं पता |

आइये आज हम आपको बताते है की डिल्डो क्या होता है –

डिल्डो एक प्रकार का सेक्स टॉय होता है जो लडकियों या विवाहित महिलाओ द्वारा बिना शिश्न यानि penis के सम्भोग का आनंद लेने के लिए प्रयोग किआ जाता है ।

यह ढांचे में इंसान के लिंग / शिश्न (penis) की तरह होता है। इसका प्रयोग खुद से भी किया जा सकता है या पार्टनर के द्वारा भी करवाया जा सकता है। ऐसा दिखता है डिल्डो:

डिल्डो -सम्भोग

 

आइये जानते है डिल्डो की कुछ खास बातें-

  1. यह लगभग 4–6-inch (10–15 cm) का होता है। यह लगभग एक उत्तेजित लिंग का नाप है।
  2. इसका प्रयोग vagina( स्त्री का योनि) , anus (मलद्वार), ओरल (मुख) आदि के penetration (प्रवेश करने) में किया जा सकता है। इसके कारण orgasm ( चरम सुख) की अनुभूति होती है।
  3. यह रबर, सिलिकॉन, जेली आदि मटेरियलों से बना होता है। ग्लास या स्टील का भी हो सकता है। anal डिल्डो का base (निचला भाग) चौड़ा होता है ताकि अंदर प्रवेश की एक लिमिट बनी रहे और वह पूरा ना प्रवेश कर जाए।
  4. इसे आसानी से सुपर मार्केटों या ऑनलाइन शॉपिंग से प्राप्त किया जा सकता है।
  5. बार बार अगर कोई सज्जन इसका प्रयोग करना चाहती/ चाहते हों तो इसका sterilization कर लेना चाहिए।
  6. कुछ डिल्डो में एक बेल्ट लगा होता है जिसे कोई दूसरी महिला अपने कमर पर बांध कर किसी दूसरी स्त्री के साथ ठीक वैसे ही सेक्स कर सकती है जिस तरीके से एक पुरुष किसी स्त्री को सेक्स करता है।

7.   कुछ डिल्डो इलेक्ट्रिकल होते है जिसमें बैटरी लगा रहता है जिसे रिमोट से कंट्रोल किया जाता है या उसमें कंट्रोल करने के लिए बॉटम दिया रहता है।

बहुत से देशों में इसे बैन कर दिया गया है और यूज़ करने वालो या बेचने वालों पर इसकी सजा भी है। वैसे तो इसका प्रयोग केवल महिलाएं ही करती है जिससे वो अपने सेक्स के चरम सुख को प्राप्त कर सके। डिल्डो को कभी भी अच्छे कंपनी का ही यूज़ करना चाहिए अन्यथा इससे संक्रमण का खतरा बहुत ही ज्यादा होता है। एक बार डिल्डो यूज़ करने के बाद इसकी अच्छे से सफाई करें या कोशिश करें कि दूसरे बार नया डिल्डो ही यूज़ करें।

जरूरी बातें:

१.सेक्स टॉय कभी नहीं थकता है, इसलिए सेक्स टॉय को आराम से योनि में एक-एक इंच नीचे ले जाएं। यदि आप अभी कम उत्तेजित हैं तो सेक्स टॉय को क्लिटोरिस पर रगड़ती (rub) रहें और जब योनि से अधिक चिपचिपा पदार्थ (fluid) निकलने लगे तब इसे योनि में प्रवेश कराएं।

२. यदि e-डिल्डो है तो उसके स्पीड पर भी ध्यान दे स्टार्ट कम स्पीड के साथ करे।

३.डिल्डो को धीरे-धीरे योनि में काफी गहराई (deep insert) तक ले जाएं और ऑर्गेज्म का आनंद लेने के बाद इसे बिल्कुल आराम से योनि से बाहर निकाल दें।

४. यदि आप वर्जिन है या फिर सम्भोग किये हुए काफी समय हो गया है तो शुरुआत में डिल्डो का उपयोग आसानी से करे ताकि ज्यादा दर्द का न हो या फिर योनी से खून

डिल्डो यूज़ करने के फ़ायदे:

१.डिल्डो एक कृत्रिम उपकरण है इसलिए इससे सेक्स करने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि व्यक्ति को ऑर्गेज्म भी मिल जाता है और उसे यौन संचारित बीमारियां भी नहीं होती हैं। इसलिए बिना किसी टेंशन के सेक्स टॉय से सेक्स करने का आनंद लिया जा सकता है। इसके अलावा सेक्स टॉय से प्रेगनेंट होने का भी कोई डर नहीं होता।

२. ज्यादातर महिलाओं को ऑर्गेज्म की प्राप्ति नहीं हो पाती है, ऐसे में डिल्डो उन्हें उत्तेजना के चरम पर पहुंचाने में मदद करता है और उन्हें बहुत आसानी से और बहुत जल्दी चरम सुख का आनंद प्राप्त हो जाता है। सेक्स टॉय से सेक्स करने पर महिलाओं के स्तन में भी खूब उत्तेजना होती है और वह लंबे समय तक सेक्स कर सकती हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *